बादी की दर्दों को कम करने लिए आजमाया हुआ घरेलु इलाज

7
14346
बादी का दर्द

कैसे शरीर में वायु और दर्द को बढ़ने न दें जानिए बादी की दर्दों के लिए या वायु से होने वाली दर्दों के लिए आजमाया हुआ घरेलु इलाज

यदि आपके शरीर में कही न कहीं दर्द होता ही रहता है, और दर्द एक जगह से दूसरी जगह घूमता रहता है| कभी ये दर्द कम हो जाता है कभी तेज या फिर सुबह आपका शरीर सख्त हो जाता है, या फिर आपके शरीर में वायु की अधिकता है , तो ज्यादातर सम्भावना है कि आपको वायु की अधिकता से दर्द होता है, इसे बादी का दर्द भी कहते हैं | ये शरीर के किसी भी हिस्से में हो सकता है, ज्यादातर ये पेट, पीठ, कमर, जोड़ आदि में होता है| इसके लिए आपके घर में ही रसोई में इसका इलाज है|

आपने पहले भी सुना होगा की मेथीदाना भिगो कर खाने से दर्दों में आराम मिलता है लेकिन शायद इसकी सही विधि पता न होने की वजह से आप इस से लाभ नहीं ले पाते, और किसी किसी को रास भी नहीं आता|

दर्द निवारण के लिए मेथीदाना सेवन की सही विधि 

बादी की दर्दों से निजात पाने के लिए रात को आधा चम्मच (यदि दर्द हल्की है)  एक चम्मच (यदि दर्द ज्यादा है)  मोटा मेथी दाना कांच के गिलास में पानी में भिगो दें | सुबह वो फूल कर एक चम्मच हो जाएगा | अब इसका पानी फेंक दें क्युकी मेथी में पाए जाने वाले जो तत्त्व ज्यादा गरम होते है वो पानी में निकल जाएगे और सुबह का पानी पीने के 5-10 मिनट बाद इसे चबा चबा कर खाये | इसके बाद 15-20 मिनट तक कुछ न लें | इसे सप्ताह में पांच दिन लें, दो दिन बंद कर दें |

दर्द निवारण के लिए टमाटर अदरक का सूप

एक टमाटर व एक अंगूठे के आकार जितना अदरक छोटा छोटा काट लें | अब इन दोनों को एक बड़ा गिलास पानी में सामान्य आंच पर उबालें जब पानी आधा रह जाये तब इसे छान लें  और गूदे से भी पानी निचोड़ लें | अब इस पानी में थोडा सेंधा नमक, थोड़ी कालीमिर्च (यदि पित्त और शरीर की गरमी सामान्य है तो ), 1 छोट्टा चम्मच गाय का घी ( या अन्य देसी घी) डालकर इस सूप को गुनगुना या गरम गरम पी लें | इस आप नाश्ते या दिन में किसी भी समय खाने के साथ अथवा अलग से शाम को ले सकते है |

यदि शरीर में सिर्फ वायु है तो एक दो बार ही उपर दिए दोनों प्रयोगों के  करने से आराम आ जाएगा और फिर कभी जरुरत महसूस होने पर इन्हें दोबारा कर लें लेकिन यदि वायु बढ़ कर दर्द कर रहा है तो इसे कुछ दिन लगातार भी ले सकते है जब रोग शांत महसूस होने लगे तो इसे बंद कर सकते है या कम कर सकते हैं |

दर्द यदि ज्यादा है या बहुत पुराना है और आपने इन प्रयोगों को आजमाया और आपको आराम नहीं आया तो यह ध्यान रखे की वह दर्द किसी अन्य बिमारी का भी संकेत हो सकता है आप उसे नज़रअंदाज न करते हुए किसी अनुभवी वैद्य से संपर्क करें |

3 6 votes
Article Rating
+17
guest
7 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Vaishali
Vaishali
1 year ago

Kya paneer ka pani vaat rogi le sakte hn? Ye vaat ko badhayega toh ni? Plz btayein ?

0
Nityanandam Shree
Nityanandam Shree
1 year ago
Reply to  Vaishali

IF YOU TAKE IN LIMIT. THEN NO HARM

0
Shelley
Shelley
1 year ago

Gas banti hai par pass nahi hoti balki toilet ya urination ka pressure padh jata hai. Agar gas pass nahi hoti aur aisa hota hai toh iska reason kya hota hai? Kya problem hai ye Plz btayein

0
Nityanandam Shree
Nityanandam Shree
1 year ago
Reply to  Shelley

kuch days fruits juice and soups par raho.. body lite ho jaegi to fir sab theek lagega..

0
Nityanandam Shree
Nityanandam Shree
1 year ago
Reply to  Shelley

kuch days fruits juice and soups par raho.. body lite ho jaegi to fir sab theek lagega..

0
trackback

[…] आता | बल्कि उस मिटटी के बर्तन का भी पानी न पियें जिसे पूरी तरह पकाया न गया हो […]

0
Shelley
Shelley
10 months ago

Guruji main weakness k liye patrangasava leti hu.. Par mjhe acidity bahut jyada ho ri h toh kya main patrangasava mein punarnavasava milake le sakti hu?? Koi nuksaan toh ni hoga..

0