आयुर्वेद के अनुसार न खायें सात दिन से ज्यादा नीम, होंगे ये नुक्सान जानिये

1
6188
side effects of neem in ayurveda

आपने एक आम कहावत नीम हकीम खतरे जान सुनी ही होगी| यदि आप भी नीम के फायदों से प्रभावित हो कर खून को साफ़ करने के लिये या फिर मधुमेह व डायबीटीज के लिए नीम का सेवन करते हैं तो आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें की आयुर्वेद के प्रामाणिक ग्रंथों के अनुसार नीम की तासीर खुश्क है, इसके सेवन के दौरान गाय के घी का सेवन दिन में एक बार अवश्य करें तभी आप लम्बे समय तक नीम का प्रयोग कर सकते हैं | इस के इलावा नीम को सात दिन से अधिक प्रयोग न करे| यदि आप लगातार सात दिन से अधिक नीम का सेवन करते हैं और तरकारी चीजों जैसे घी, छाछ, दूध आदि का सेवन नहीं करते तो इस से आँखों की रौशनी पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ेगा | इसलिए नीम का सेवन रक्त के शोधन के लिए कभी कभी ही करें व मधुमेह वाले रोगी भी इसका सेवन सात दिन से अधिक न करें या फिर साथ में स्निग्ध चीजों का सेवन अवश्य करें | सात दिन इसका सेवन करके सात दिन इसका सेवन बंद रखें फिर से सात दिन इसका सेवन करें, ताकि इसका पूरा लाभ आपको मिल सके और इस से आपको कोई नुक्सान या दुष्प्रभाव न हो |

+12

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here