ध्यान के अभ्यासियों के लिये आवश्यक पथ्य / अपथ्य

4
3042
ध्यान

ध्यान के अभ्यासियों के लिये आवश्यक पथ्य / अपथ्य

ध्यान में क्या करें ? क्या न करें ?

  • ध्यान आदि के साथ-साथ साधक रोजाना योग / प्राणायाम का भी अभ्यास अवश्य करें |
  • अभ्यासी सात्विक आहार लें | तामसिक व राजसिक आहार अधिक लेने से कठिनाई होगी |
  • शिविर में भाग लेने के दौरान इन्टरनेट, टीवी, मोबाईल, अख़बार आदि का उपयोग यथा उचित व कम से कम करें तथा सड़कों पर लगे साईनबोर्ड / पर्चे आदि भी कम से कम पढ़ें |

आहार सम्बन्धी पथ्य / अपथ्य

ध्यान में क्या खायें ? क्या न खायें ?

  • ध्यानी सात्विक आहार के सेवन को प्राथमिकता दें तथा राजसिक व तामसिक आहार का सेवन न के बराबर अथवा कम करें |

सात्विक आहार :

गाय का दूध, मलाई, मक्खन, पनीर, घी, पके व ताजे फल जैसे : सेब, केला, अंगूर, पपीता, अनार, आम, संतरा, नाशपाती, अनानास, अमरुद, खजूर, नारियल आदि |

ताज़ी सब्जियां जैसे : लौकी, पालक, टमाटर, मटर, खीरा, कद्दू, गोभी, आलू, भिंडी, बन्दगोभी व नींबू आदि |

शहद, बादाम, पिस्ता, सोगी आदि |

गेहूं, जौ, चावल, मूंगफली, दलिया, बिना पालिश दालें आदि |

राजसिक आहार :

मांस,  मछली, अंडे आदि |

नमक, मिर्ची, तीखी चटनियां, हींग, अचार, इमली, सरसों, खट्टे पदार्थ, चाय, कॉफ़ी, कोको पाउडर, सफ़ेद चीनी, गाजर, शलगम, तीखें मसालें आदि |

तामसिक आहार : 

प्याज़, लहसुन, सड़ी व बासी चीज़े, दो बार या बार-बार पकाया व गर्म किया भोजन, गौ-मांस व सभी प्रकार के नशे जैसे शराब आदि |

आवश्यक सूचना :

आगामी शिविर में भाग लेने व अपने शहर या गांव में ध्यान शिविर करवाने अथवा ध्यानशाला खुलवाने हेतु सम्पर्क करें |

+3

4 COMMENTS

  1. Guruji mujhe 15yrs se sir diard hai ,mujhe torrettes ki symptoms v hai….jaise ki neck jerking eye blinking….kripya iska ilaj bataye…bahut pareshan hoon main

    0

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here