Planting a tree is like building an inn as it provides shade and shelter to all. Planting a tree is similar to that of building a mess because it gives fruits & flowers to all. Planting a tree is just like building a dispensary because this serves all with its medicinal values. A human being is completely indebted to a tree because he gets every breadth he requires from this tree only. A tree lives for others throughout its life… hence it teaches us a fine excellent lesson thereof too – Nityanandam Shree

0
1270

एक पेड़ लगाना, एक धर्मशाला बनवाने के सामान है, क्योंकि यह सबको छाया और आश्रय देता है|

एक पेड़ लगाना , एक भोजनालय बनवाने के सामान है, क्योंकि यह सबको फल फूल भी तो देता है|

एक पेड़ लगाना, एक औषधालय बनवाने के सामान है, क्योंकि यह दवा बनकर सबके काम जो आता है |

एक पेड़ का इंसान इतना कर्ज़दार है, क्योंकि जीने के लिए हर पल साँस भी तो इसी से पाता है |

एक पेड़ सारा जीवन ओरों के लिए जीकर हमें,  शिखा का उत्तम पाठ भी तो पढाता है |

+4

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here